6 स्वादिष्ट हलवा सर्दियों के लिए Halwa Recipe

6 स्वादिष्ट हलवा जो आपकी सर्दियों को बनाएँगे ख़ास

सर्दियाँ आते ही शुरू हो जाती है हलवे खाने की परंपरा। जी हाँ, हम भारतीय सर्दियों में हलवा खाने को भी किसी रिवाज की तरह मानते है। गाजर का हलवा हो या मटर का, मूँग दाल का हलवा हो या ख़सख़स बादाम का; सर्दियों में हलवा नहीं खाया तो क्या ख़ाक सर्दियाँ बिताई। इस #फ़ूडब्लॉग में आप जानेंगे 6 स्वादिष्ट और सेहतमंद हलवे बनाने की विधी।तो आइए शुरू करते हलवों का मिठासपूर्ण सफ़र-

ख़सख़स-बादाम का हलवा

सर्दियों में गर्म तासीर और ताक़त देने वाला यह ख़सख़स बादाम का हलवा किसी राजसी पकवान से कम नहीं है। 

यह हलवा बनाने के लिए एक रात पहले या 6-8 घंटे पहले 1 कटोरी ख़सख़स और 10-15 बादाम भिगो दे। अगली सुबह ख़सख़स का पानी छलनी लगा के निकाल दे और बादाम के छिलके भी उतार दे। अब भीगी हुई, पानी और छिलका निकली हुई ख़सख़स-बादाम को मिक्सर के छोटे ज़ार में बारीक़ पीस लें। अगर पिसने में कठिनाई महसूस हो रही हो तो थोड़ा सा पका हुआ दूध डाल के दोबारा पीस ले। महीन पेस्ट बन जाने पर, इस पूरे पेस्ट को कड़ाही में घी गरम कर के डाले और सेंकना शुरू करे। धीमी आँच पर ख़सख़स बादाम के पेस्ट को सेंकते रहे।

हल्का सा भूरा रंग और सौंधी महक आने पर ये भी देखे की घी छूट रहा हो चारों और तब सही समय है पेस्ट में दूध डालने का। अब आपको दूध के गाढ़ा होने और पेस्ट में समाने तक चलते रहना है। थोड़ा सा दूध बचने पर शक्कर और इलायची पाउडर डाल दे। कुछ समय बाद आप देखेंगे की दूध, शक्कर और इलायची पाउडर सब ख़सख़स बादाम के पेस्ट में समा चुके है और आसपास फिर से घी छूटता दिखाई देगा। यही समय है गैस बंद कर देने का।

ख़सख़स बादाम का हलवा तैयार है।

अखरोट का हलवा

सर्दियों में होने वाले घुटनो के दर्द से राहत पाने के लिए और दिमाग़ तेज़ करने के लिए अखरोट का हलवा बहुत लाभकारी है। 

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए 10-15 अखरोट, 15-20 मुनक्का या किशमिश, और घी 2 बड़ी चम्मच। सबसे पहले अखरोट की गिरि निकाल कर  4-5 घंटो के लिए पानी मे भिगो दीजिये।फिर अखरोट की गिरि परसे छिलका उतार लीजिये और उसके बाद मिक्सर के ज़ार में बारीक पीस लीजिये। दूसरी तरफ किशमिश या मुनक्का के बीज हटाकर उन्हें भी मिक्सर मे पीस कर बारीक कर लीजिये। यदि आपको शक्कर या गुड़ डालना है तो आप वह भी डाल सकते है किशमिश या मुनक्का के स्थान पर। अब एक कड़ाही मे घी लेकर अखरोट भूनना शुरू कीजिए।

जब अखरोट भून कर सुनहरा लाल हो जाये और उनसे घी अलग छूटने लगे तब इसमें पिसी हुई किशमिश या मुनक्का डालिये व भूनते रहिये। यदि आपको शक्कर डालनी है तो आप शक्कर डाल लीजिये। जब हलवे का रंग सुनहरा लाल रंग होने लगे और साथ ही जब अखरोट घी अलग छोड दे तब गैस बंद कर दीजिए।

आपका अखरोट का हलवा तैयार है।

मूँग दाल का हलवा

सर्दियों में होने वाले शादी और अन्य समारोह में मूँग दाल का हलवा मुख्य रूप से बनाया जाता हैं। बनाने में थोड़ा कठिन पर खाने में लज़ीज़ मूँग दाल हलवा सेहत और स्वाद दोनों से भरपूर है।

मूँग दाल का हलवा बनाने के लिए सबसे पहले 100 ग्राम या एक छोटी कटोरी मूँग दाल को धो कर 3-4 घंटों के लिए भिगो दे। इसके बाद दाल का पानी निकाल कर मिक्सर के ज़ार में हल्का दरदरा पीस ले।अगले चरण में कड़ाही में उसी कटोरी को भर कर घी डाले और दाल सेंकना शुरू करें। जब तक दाल का रंग हल्का भूरा ना हो जाए और पूरा पानी ना उड़ जाए तब तक सेंकते रहें। साथ ही दूसरी तरफ़ उसी कटोरी से भरकर एक कटोरी शक्कर में सवा कटोरी पानी मिलाकर गैस पर रखें और शक्कर पिघलने तक गर्म होने दे।

जब शक्कर पानी में पूरी तरह घुल जाए तब गैस बंद कर दे और इस चाशनी को सिंकी हुई मूँग दाल में मिला दे। जैसे ही आप चाशनी को मूँग दाल में मिलाएँगे आप देखेंगे की मूँग दाल फूल कर दोगुनी हो गयी है। बस अब पानी समाने तक और हलवे के गाढ़ा होने तक चलाते रहिए। आप देखेंगे किनारों पर घी छूट गया है। सजावट के लिए काजू, बादाम, पिस्ता और किशमिश का प्रयोग करे। अगर इलायची का स्वाद पसंद है तो शक्कर – पानी की चाशनी बनाते समय उसी में डाल दे।

आपका लज़ीज़ मूँग दाल हलवा तैयार है। 

बेसन का हलवा

झटपट तैयार होने वाला और घी से सराबोर बेसन का हलवा घर में होने वाली छोटी पार्टीज़ और रात के खाने में भी सर्व किया जा सकता है। ये बनाने में आटे के हलवे की तरह ही आसान है। 

इसे बनाने के लिए सबसे एक कटोरी बेसन ले और डेढ़ कटोरी घी। घी को कड़ाही में डालें और गरम होने पर बेसन डाल कर भूनना शुरू करे। यहाँ से शुरू होती है आपके हाथों की कसरत। बिना रुके और बिना गैस तेज़ किए, धीमी आँच पर बेसन को घी में भूनते रहिए। तक़रीबन 10-15 मिनट तक भूनने के बाद आपको बेसन से सौंधी महक आने लगेगी और बेसन का रंग भी भूरा दिखाई देने लगेगा। जब आप बेसन को भून रहे होंगे तब ही गैस के दूसरे बर्नर पर एक कटोरी शक्कर-एक छोटी चम्मच इलायची पाउडर- और डेढ़ कटोरी पानी को चाशनी जैसे बनने के लिए रख दे।

जब आपका बेसन भून जाए तब थोड़ी देर के लिए गैस को बंद कर दे और शक्कर-इलायची पाउडर-पानी से बनी चाशनी को बेसन में पलटा दे। आप देखेंगे को बेसन फूलने लगेगा। गैस को दोबारा चालू कर के बेसन को चलाना शुरू करिए। कुछ ही समय में सारा पानी बेसन में समा चुका होगा और कड़ाही में घी छूटता दिखाई देगा। यही सही समय है गैस बंद कर देने का।

आपका बेसन का हलवा तैयार है। सजाने के लिए आप काजू, बादाम, किशमिश, पिस्ता और चिरौंजी का प्रयोग करें।

गाजर का हलवा

हर दिल अज़ीज़ और सर्दियों को शान कहे जाने वाले गाजर के हलवे की बात ही कुछ अलग है। सर्दियों में स्ट्रीट फ़ूड की तरह भी बिकता है और शादियों में भी बनता है। जितना खाओ उतना कम ही लगता हैं। 

गाजर का हलवा बनाने के लिए आपको चाहिए 1 किलो लाल गाजर जो अंदर से पीली ना हो, 1 लीटर फ़ुल फ़ैट दूध, एक कटोरी घी, पौन कटोरी शक्कर, इलायची पाउडर, काजू, बादाम, और किशमिश।सबसे पहले गाजर को छिलका उतार कर धो ले और किसनी से किस लें। याद रहे: किसनी से किसे, ना की फ़ूड प्रॉसेसर, मिक्सर या चॉपर से कर के अपनी मेहनत बचाए। कड़ाही में घी डालें और गर्म होने पर किसी हुई गाजर उसमें डाले। याद रखें: गाजर को जितना सेकेंगे उतना ही इसके पौषक तत्व बढ़ेंगे।

गाजर को तब तक सेंकते रहें तब तक की पानी ना उड़ जाए और गाजर का रंग एक दम सुर्ख़ लाल ना हो जाए। इसके बाद दूध डाल दे और दूध को गाजर के साथ ही गाढ़ा होने दे। जब दूध समाने के नज़दीक हो तब शक्कर और इलायची पाउडर डाल दे और चलाते रहे। गाजर के हलवे को बनाने में आप जितना समय देंगे और संयम रखेंगे खाने में वह उतना ही लज़ीज़ होगा। जब दूध पूरा समा जाए और गाजर कड़ाही छोड़ने लगे तब सही समय है गैस बंद करने का।

हलवे को परोसने से पहले काजू-बादाम से सजाए और शांति के साथ बैठ कर उसका स्वाद लें।

मटर का हलवा

 मटर पनीर, आलू मटर, और मटर टमाटर की सब्ज़ी तो आपने बहुत खायी होगी। इन सर्दियों में ज़रूर बनाए मटर का हलवा। मटर के हलवे की विधी जानने के लिए यहाँ क्लिक करें। 

तो ये थी उन 6 स्वादिष्ट सेहतमंद हलवो की रेसिपीज जो आपको सर्दियों में ज़रूर खाना और खिलाना चाहिए। इन 6 हलवो के अलावा आप सर्दियों में आटे का हलवालौकी का हलवासूजी का हलवा, शकरकंदी का हलवा, हरे चने का हलवा और कई अन्य हलवे बना के खा सकते है और परोस सकते है। 

कैसा लगा आपको ये फ़ूड ब्लॉग कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताए। इसे ज़रूर अपने परिवारजनों और परिचितों में शेयर करें। जल्दी मिलेंगे अगले फ़ूड ब्लॉग के साथ…  तब तक के लिए अपना ख़्याल रखिये और सुरक्षित रहिए। 


3
0

Leave a Reply

Your email address will not be published.